Commonwealth Games 2022: 19 साल के जेरेमी लालरिनुंगा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में रचा इतिहास, भारत को दिलाया दूसरा गोल्ड मेडल, देखें भावुक पिता ने क्या कहा, वीडियो

July 31, 2022 by No Comments

Share News

कॉमनवेल्थ खेलों में तीसरा दिन भी भारत के लिए खास रहा। भारत के युवा वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में पुरुषों के वेटलिफ्टिंग इवेंट की 67 किलोग्राम भारवर्ग में गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उन्होंने स्नैच में सबसे अधिक 140 किलोग्राम वजन उठाया, जबकि क्लीन एंड जर्क में 160 किलोग्राम वजन उठाते हुए इतिहास रचा। इसी के साथ उन्होंने गेम रिकॉर्ड कुल 300 किलोग्राम वजन उठाया। इस तरह वेटलिफ्टिंग में भारत को दूसरा गोल्ड और कुल 5वां मेडल मिल गया है। इससे पहले शनिवार को मीराबाई चानू ने 49 किलोग्राम भारवर्ग में गोल्ड जीता था।

जेरेमी की जीत पर भावुक होते हुए उनके पिता ने एएनआई को बताया कि हम राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान अपने बेटे जेरेमी लालरिननुंगा का समर्थन करने के लिए राष्ट्र के आभारी हैं। हम मिजोरम के समर्थकों के भी आभारी हैं।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक यूथ ओलिंपिक गेम्स में गोल्ड मेडल जीत चुके जेरेमी ने पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया था और पहली बार में उन्होंने इतिहास रचते हुए बाजी मार ली। उन्होंने स्नैच में पहले प्रयास में 136 किलो उठाया, दूसरे प्रयास में 140 किलो उठाते हुए रिकॉर्ड कायम किया। यह उनका गेम रिकॉर्ड रहा, जबकि तीसरी कोशिश में वह 143 किलोग्राम उठाने में असफल रहे थे।

इसके बाद जेरेमी ने क्लीन एंड जर्क में पहली कोशिश में 154 किलोग्राम उठाया, जबकि दूसरी कोशिश में उन्होंने 160 किलोग्राम वजन उठाया। इस दौरान वह पीठ और एल्बो की चोट से परेशान होते भी दिखाई दिए। इसी के चलते वह तीसरी कोशिश में फेल हो गए। इस इवेंट का सिल्वर मेडल समोन के Vaipava Ioane ने 293 किलोग्राम के साथ हासिल किया, जबकि नाइजीरिया के Edidiong Joseph UMOAFIA ने 290 किलोग्राम के साथ ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया। बता दें कि कॉमनवेल्थ खेलों के दूसरे दिन, शनिवार को मीराबाई चानू ने गोल्ड, संकेत सरगर और बिंदियारानी देवी ने सिल्वर मेडल जीते, जबकि गुरुराजा पुजारी ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। इस तरह भारत को अब तक वेटलिफ्टिंग में 5 मेडल मिल चुके हैं। (फोटो सोशल मीडिया से ली गई है)