उत्तर प्रदेश की राजधानी सहित सभी जनपदों की तहसीलों पर 14 मई 2022 को होगा राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, देखें किन लंबित वादों का तत्काल किया जाएगा निस्तारण

Share News

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी में 14 मई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा और लंबित वादों का तत्काल निस्तारण भी किया जाएगा। इस सम्बंध में प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ अनुपम कुमार त्रिपाठी ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण, नई दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के निर्देशानुसार 14 मई 2022 को सुबह 10 बजे से जनपद न्यायालय, लखनऊ, कलेक्ट्रेट एवं जनपद की समस्त तहसीलों में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा।

लखनऊ में हुई आग की दो घटनाएं, विश्व स्तरीय फिनिक्स प्लासियो मॉल में आग से मची अफरा-तफरी, अमीनाबाद में ट्रांसफार्मर में लगी आग, जले ठेले और कपड़े, देखें वीडियो

DPS के स्टुडेंट्स ने मात्र ढाई मिनट में उकेरा सूफी दृश्य, अनोखी तरह से दी ईद की मुबारकबाद, देखें सूफी नृत्य का वीडियो

नगर निगम में शामिल हुए 88 नए गावों को लखनऊ मेयर संयुक्ता भाटिया ने दिया विकास का तोहफा, प्रत्येक गांव में लगेंगे समरसेविल पम्प और एलईडी लाइट, बजट में कराया 44 करोड़ का प्रावधान

AKTU:उत्तर प्रदेश के फार्मास्युटिकल छात्रों के बेहतर भविष्य व रोजगार के लिए एकेटीयू में किया गया मंथन, जानें विश्व के फार्मा उद्योगों को आकर्षित करने के लिए विशेषज्ञों ने क्या दिए सुझाव

उन्होंने बताया कि इसी के साथ पारिवारिक न्यायालय एवं मोती महल स्थित मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण, लखनऊ तथा कामर्शियल कोर्ट, लखनऊ में भी लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा। प्रभारी सचिव ने कहा कि वादकारीगण जिनके वाद किसी न्यायालय में विचाराधीन हो वह 14 मई 2022 या उसके पूर्व किसी भी कार्यदिवस में सम्बन्धित न्यायालयों के कार्यालयों से सम्पर्क कर वाद राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारित कराकर लाभान्वित हो सकते हैं।

उत्तर प्रदेश की राजधानी बनेगी और भी “स्मार्ट”, इस यूनिक पहल से लखनऊ वासियों की सुधारी जाएगी हेल्थ, देखें और क्या होने जा रहा है नवाबों के शहर में नया

भीषण गर्मी में निकली अनोखी बारात, धूप से बचने के लिए पहिया वाले टेंटे के नीचे नाचते-गाते सड़क पर निकले बाराती, देखें वायरल वीडियो

“धाकड़” के ट्रेलर लांच पर कंगना ने हेलिकॉप्टर से ली धाकड़ एंट्री, देखें एक्शन से भरपूर वायरल वीडियो

लोक अदालत में बैंक वसूली वाद, किरायेदारी वाद, मोबाइल फोन व केबल नेटवर्क संबंधी प्रकरण, आयकर, बैंक व अन्य वित्तीय संस्थाओं से सम्बन्धित प्रकरण, ऐसे प्रकरण जिनमें पक्षकार पारस्परिक सद्भावना के लिए आपसी सुलह समझौते से निपटाना चाहे, दीवानी वाद, उत्तराधिकार वाद, पारिवारिक वाद, मोटर दुर्घटना प्रतिकर वाद, चेक बाउन्स के मामले, जनोपयोगी सेवाओं तथा वाणिज्य कर से सम्बन्धित प्रकरण, राजस्व/चकबन्दी/ श्रम वाद, मोटर वाहन अधिनियम से संबंधित चालानी वाद, शमनीय प्रकृति के क्रिमिनल वाद का निस्तारण किया जाना प्रस्तावित है। लोक अदालत की नियत तिथि 14.05.2022 से पूर्व किसी भी तिथि (अवकाश को छोड़कर) पर न्यायालय में उपस्थित होकर अपने मामले के निस्तारण के लिए आवश्यक कार्यवाही करा सकते हैं।

पढ़ें अन्य खबरें-

अधिवक्ताओं और उनके लिपिकों के लिए 1 मई को होगा ई-कोर्ट कार्यक्रम का आयोजन, दिया जाएगा प्रशिक्षण, देखें पूरी जानकारी

HEALTHY LIFESTYLE: बढ़ते कोलेस्ट्राल से दुखी हैं, तो किचन में रखी ये तीन चीजों का करें सेवन और बदल लें अपनी लाइफ़ स्टाइल, देखें ये सरल उपाय

परशुराम जयंती से पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ भगवान परशुराम का फरसा, हजारों सालों से भीग रहा है बारिश में, नहीं लगी जंग, जानें कहां गड़ा है फरसा और क्या है मान्यता

लखनऊ में सरेशाम सनसनीखेज वारदात से सन्न हुए लोग, बीच सड़क पति ने गड़ासे से काटकर पत्नी की कर दी हत्या, गिरफ्तार

CSJMU:छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में 30 अप्रैल को होगा प्लेमेंट ड्राइव का आयोजन, इंटरमीडिएट से लेकर परास्नातक विद्यार्थियों के लिए सुनहरा मौका, देखें कम्पनियों के नाम और पैकेज

माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री गुलाब देवी बोलीं, वित्तविहीन शिक्षकों की उपेक्षा नहीं की जाएगी बर्दाश्त, सब शिक्षक हैं एक समान, पांच मुद्दों को लेकर मिले शिक्षकों से कहा 24 घंटे हूं उपलब्ध

लखनऊ विश्वविद्यालय ने शुरू किया प्राकृतिक चिकित्सा और योग विज्ञान में नया पाठ्यक्रम, जाने अंतिम तारीख और क्या हैं रोजगार के अवसर, इंटरमीडिएट की परीक्षा दे रहे छात्रों के लिए सुनहरा मौका

उत्तर प्रदेश में मूल्यांकन केंद्रों का बुरा हाल: भीषण गर्मी में बंद पंखों, गंदे शौचालयों और बिना पेयजल के मूल्यांकन कार्य करने को मजबूर हो रहे शिक्षक, देखें कितने सालों से बकाया है शिक्षकों का पारिश्रमिक

Leave a Comment

Your email address will not be published.