LUCKNOW:पहला बड़ा मंगल 17 मई को, विदेशी भक्तों के लिए होगी ग्लोबल मीटिंग, ई-भंडारे के लिए करें वेबसाइट पर आवेदन, देखें फोन नम्बर, स्वच्छता से भंडारा करने पर मेयर की ओर से मिलेगा गिफ्ट, देखें 7 अपील

Share News

लखनऊ। लखनऊ की श्रेष्ठ परम्पराओं व मान्यताओं में से एक पावन परंपरा ज्येष्ठ महीने में पड़ने वाले मंगलवार का दिन भी है। यह परम्परा लखनऊ की ही है। क्योंकि यहां पर ज्येष्ठ मास में पड़ने वाले सभी मंगलवार के दिन लखनऊ के हर गली-मोहल्लों में भंडारे का आयोजन किया जाता है और हनुमान जी की भक्ति में पूरा लखनऊ सराबोर नजर आता है।

LUCKNOW:मेयर ने दिया अल्टीमेटम, 7 दिनों में करें हाउस टैक्स की सभी फाइलों का निस्तारण, अगर जनता को लगवाया चक्कर, तो होगी कड़ी कार्यवाही

लखनऊ विश्वविद्यालय से सम्बद्ध महाविद्यालयों को महिला शौचालयों में सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन की अनिवार्य रूप से करनी होगी व्यवस्था, कुलपति आलोक कुमार राय ने दिए 10 दिशा- निर्देश, देखें पूरी जानकारी

चेन लूटकर मसाज करवा रहे बदमाश को पुलिस ने पार्लर में ही धर दबोचा, पकड़े जाने से पहले लुटेरा कटा चुका था बाल, करा चुका था फेशियल

इस बार जेठ महीने में पांच मंलवार पड़ने वाले हैं और इसकी शुरूआत 17 मई को है। अर्थात 17 मई को पहला मंगल मनाया जाएगा। इसको लेकर गुरुवार को मेयर संयुक्ता भाटिया ने मंगलमान अभियान समिति के साथ बैठक की। नगर निगम कार्यालय, लखनऊ में आहुत बैठक में महापौर ने मंगलमान समिति और नगर निगम के अधिकारियों संग बड़े मंगल को लगने वाले भंडारों में स्वच्छता और बड़े मंगल की ब्रांडिंग करने की रणनीति पर विस्तृत योजना बनाई।

लखनऊ में एमिटी विश्वविद्यालय के पास दो युवतियों से छेड़छाड़, विरोध करने पर शोहदों ने किया हमला, एक युवती घायल, देखें क्या है पूरा मामला

काशी विश्वनाथ पर विवादित बयान देने वाले लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर पर छात्रों ने जाति के आधार पर नम्बर देने का लगाया आरोप, निलम्बन न होने तक विरोध जारी रखने की घोषणा, देखें वीडियो

इस मौके पर मेयर ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुई विशेष परिस्थितियों के चलते 2020 एवं 2021 के ज्येष्ठ के बड़ा मंगल का त्यौहार ठीक से नहीं मनाया जा सका था। फिर भी मंगलमान समिति के सहयोग से नगर निगम ने ई-भण्डारों के माध्यम से लोगों को एक विकल्प उपलब्ध कराया था। इस बार जब कि स्थिति कुछ सामान्य हो रही है, तो कोरोना से पहले की तरह ही भंडारे लगने भी प्रारम्भ हो गए हैं, लेकिन अभी भी कोरोना का खतरा बना हुआ है। इसलिए सुरक्षित रहते हुए आयोजक भण्डारो का आयोजन करें। कोरोना ने साफ -सफाई का महत्व भी हम सभी को बता दिया है। इसलिए हमारा आग्रह है कि अपने भण्डारों पर स्वच्छता, पवित्रता एवं पर्यावरण का विशेष ध्यान दें। इस अवसर पर अपर नगर आयुक्त अभय पाण्डेय, राकेश यादव एवं मंगलमान अभियान से जुड़े त्रिभुवन शुक्ल, राजीव अग्रवाल, अनूप मिश्र, पंकज मिश्रा, सत्यव्रत पांडेय, विजय, आदित्य प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

DIABETES: अगर सेक्स इच्छा में आ रही है कमी तो…कहीं आप मधुमेह के शिकार तो नहीं हो रहे, जानें मधुमेह के 19 लक्षण

लोकमंगल दिवस: 63 लाख के टैक्स पर बाबुओं ने बनाया सेटलमेंट का दबाव, चेक कराई बाउंस, महापौर के सामने व्यापारी ने खोली पोल, मातहतों पर लटकी कार्यवाही की तलवार, जांच शुरू

HEALTH TIPS:रोजाना पिएं आंवला की चाय, थकान और तनाव तो दूर होगा ही, उतर जाएगा चश्मा भी, कोरोना में लाभ के साथ ही मिलेंगे 10 और फायदे, जानें चाय बनाने की विधि

ई-भंडारा भी होगा
मंगलमान अभियान के अंतर्गत प्रारम्भ किया गया ई -भंडारा कार्यक्रम भी अपनी सेवाएं लगातार देता रहेगा, जिसके माध्यम से जनजागरण एवं समन्यवय का कार्य किया जायेगा। अगर कोई आयोजक चाहे तो इसके माध्यम से भी अपना संकल्प पूरा कर सकते हैं। भंडारा एवं ई-भंडारा लगाने वालों के लिए इसका पूरा विवरण मंगलमान की वेबसाइट (www.mangalman.in) पर उपलब्ध है।

कैशलेस इलाज मामले में उत्तर प्रदेश बनने जा रहा है पहला राज्य, इसी महीने लागू हो सकती है ये व्यवस्था, जानें कैसे मिलेगी सरकारी कर्मचारियों को ये सुविधा, इन 6 बिंदुओं से समझें पूरी योजना

मंगलमान की वेबसाइट (www.mangalman.in) पर भंडारा /ई-भण्डारा के बारे में जानकारी दी गयी है। आयोजकों से आग्रह है कि वे वेबसाइट के माध्यम से आयोजन की तिथि से कम से कम 2 दिन पूर्व में अपना रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें जो पूर्णतः निःशुल्क है। अधिक जानकारी के लिए मंगलमान अभियान के संयोजक डॉ राम कुमार तिवारी से 9415755950 / 7985242074 अथवा ई-मेल mangalmanlko@gmail.com पर संपर्क कर सकते है।

अक्षय कुमार की “पृथ्वीराज’ होगी 3 जून को रिलीज, हरी हर गीत हुआ वायरल, देखें एक्शन से भरा ये वीडियो

विदेश में रहने वाले भक्तों के लिए आयोजित की जाएगी ग्लोबल मीटिंग
मंगल के आयोजनों से स्कूल एवं कॉलेज के बच्चो को भी जोड़ने का प्रयास किया जायेगा। इसके लिए मंगलमान कार्यकर्त्ता संस्थाओं से सम्पर्क करेंगे। भण्डारों को सुव्यवस्थित करने के क्रम में आयोजकों के साथ समन्वय किया जायेगा, जिससे हमारे भंडारे दूसरो के लिए प्रेरणा बनेंगे। सुव्यवस्थित एवं अनुकरणीय भंडारा आयोजकों का अभिनन्दन भी किया जायेगा। अभियान का दूसरा पहलु लखनऊ की इस अनुपम परंपरा का देश विदेश में विस्तार करना है। इस नाते लखनऊ के बाहर के आयोजकों के लिए एक ग्लोबल मीटिंग का आयोजन भी किया जायेगा और ऐसे आयोजकों को प्रमाण पत्र भी दिया जायेगा।

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ कानपुर नगर चुनाव: देखें कौन बना अध्यक्ष, किसके सिर सजा महामंत्री और कोषाध्यक्ष का ताज, देखें वीडियो

मंगल भंडारा करने वालों से महापौर ने की अपील

बड़े मंगल का भण्डारा लगाने पर मंगलमान समिति और वेबसाइट को जरूर सूचित करें।
नगर निगम हर जोन में गाड़ियों को लगाएगा जो भंडारा स्थल से लगातार दोना पत्तल उठाएंगे।
मंगलमान समिति के लोग भंडारा संचालकों से भंडारा स्थल पर सफाई रखने के लिए संपर्क करेंगे और प्रेरित करेंगे।
स्वच्छ भंडारा आयोजन पर महापौर आयोजकों को प्रोत्साहित करेंगी ।
भंडारा संचालक भंडारे को पंजीकरण करायेंगे तो मुफ्त में नगर निगम से सफाई की सुविधा बतौर गिफ्ट दी जाएगी।
भण्डारे आयोजको, मंगलमान समिति और नगर निगम से व्यवस्थाएं कराने के लिए अपर नगर आयुक्त यमुनाधर चौहान को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

LUCKNOW UNIVERSITY:31 मई तक भरे जाएंगे BCA और LLB पांच वर्ष के फार्म, देखें एलएलबी तीन वर्ष व LLM के फार्म की अंतिम तारीख, एमएससी केमेस्ट्री प्रेक्टिकल की तारीखें घोषित

आयोजकों से आग्रह किया गया कि वे अपने भंडारे पर अच्छे कोटेशन लिखे, डस्टबीन रखे, कूड़े को बोरे में भर कर मुँह बांध दे और स्वच्छता का वीडियो बना कर भी भेजे जिसे पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। पर्यावरण संरक्षण, स्वच्छता, सेवा जैसे सामाजिक सरोकार से जुड़ कर मङ्गल का मानवर्द्धन करने वाले आयोजकों का सार्वजानिक अभिनन्दन भी किया जायेगा।

पढ़ें अन्य खबरें

भारत-बांग्लादेश अध्ययन के लिए होगी शोध पीठ की स्थापना, ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय और बांग्लादेश सरकार के बीच 15 बिंदुओं पर हुई बातचीत, ढाका व लखनऊ छात्रों के लिए स्थापित किया जाएगा स्टार्टअप्स

EDU RANK:ईडीयू की वर्ल्ड रैंकिंग में लखनऊ विश्वविद्यालय की स्थिति हुई मजबूत, IIT कानपुर को मिला पहला स्थान, दूसरे पर BHU और तीसरे पर रहा अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

LUCKNOW:बाबुओं के आगे-पीछे नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, हाउस टैक्स प्रणाली में होने जा रहा है सुधार, जनता को बिचौलियों से मिलेगी मुक्ति, मेयर ने दिए महत्वपूर्ण निर्देश

Leave a Comment

Your email address will not be published.