मोहिनी एकादशी आज: माता सीता की खोज के दौरान प्रभु श्री राम ने भी रखा था मोहिनी एकादशी का व्रत, करें प्रभु राम की पूजा, देखें कथा

Share News

वैशाख शुक्ल एकादशी को मोहिनी एकादशी कहते हैं। इस बार यह एकादशी 12 मई 2022 को पड़ रही है। यह व्रत भी कृष्ण पक्ष की एकादशी की तरह ही किया जाता है। मान्यता है कि इस व्रत को करने से खराब कर्मों के पाप से छुटकारा मिलता है व मोह का बंधन टूट जाता है। आचार्य सुशील कृष्ण शास्त्री बताते हैं कि माता सीता की खोज के दौरान भगवान श्री राम ने भी यह व्रत किया था। तो वहीं मुनि कौण्डिन्य के कहने पर धृष्टबुद्धि और श्रीकृष्ण के कहने पर युधिष्ठिर ने इस व्रत को किया था।

लखनऊ में एमिटी विश्वविद्यालय के पास दो युवतियों से छेड़छाड़, विरोध करने पर शहदों ने किया हमला, एक युवती घायल, देखें क्या है पूरा मामला

काशी विश्वनाथ पर विवादित बयान देने वाले लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रोफेसर पर छात्रों ने जाति के आधार पर नम्बर देने का लगाया आरोप, निलम्बन न होने तक विरोध जारी रखने की घोषणा, देखें वीडियो

भारत-बांग्लादेश अध्ययन के लिए होगी शोध पीठ की स्थापना, ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय और बांग्लादेश सरकार के बीच 15 बिंदुओं पर हुई बातचीत, ढाका व लखनऊ छात्रों के लिए स्थापित किया जाएगा स्टार्टअप्स

EDU RANK:ईडीयू की वर्ल्ड रैंकिंग में लखनऊ विश्वविद्यालय की स्थिति हुई मजबूत, IIT कानपुर को मिला पहला स्थान, दूसरे पर BHU और तीसरे पर रहा अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

LUCKNOW:बाबुओं के आगे-पीछे नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, हाउस टैक्स प्रणाली में होने जा रहा है सुधार, जनता को बिचौलियों से मिलेगी मुक्ति, मेयर ने दिए महत्वपूर्ण निर्देश

DIABETES: अगर सेक्स इच्छा में आ रही है कमी तो…कहीं आप मधुमेह के शिकार तो नहीं हो रहे, जानें मधुमेह के 19 लक्षण

इस दिन भगवान श्रीराम की पूजा करने का विधान शास्त्रों में दिया गया है। इस दिन भगवान की प्रतिमा को स्नान कराने के बाद उत्तम वस्त्र पहना कर उच्चासन पर बैठाना चाहिए। इसके बाद विधि-विधान से परम्परागत पूजा-अर्चना करनी चाहिए। साथ ही मीठे फलों का भोग लगाना चाहिए। ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा देना चाहिए। रात्रि को कीर्तन करते हुए भगवान की प्रतिमा व मूर्ति के पास ही सोएं। ऐसा करने से प्रभु की सदैव कृपा बनी रहती है।

लोकमंगल दिवस: 63 लाख के टैक्स पर बाबुओं ने बनाया सेटलमेंट का दबाव, चेक कराई बाउंस, महापौर के सामने व्यापारी ने खोली पोल, मातहतों पर लटकी कार्यवाही की तलवार, जांच शुरू

HEALTH TIPS:रोजाना पिएं आंवला की चाय, थकान और तनाव तो दूर होगा ही, उतर जाएगा चश्मा भी, कोरोना में लाभ के साथ ही मिलेंगे 10 और फायदे, जानें चाय बनाने की विधि

LUCKNOW UNIVERSITY:31 मई तक भरे जाएंगे BCA और LLB पांच वर्ष के फार्म, देखें एलएलबी तीन वर्ष व LLM के फार्म की अंतिम तारीख, एमएससी केमेस्ट्री प्रेक्टिकल की तारीखें घोषित

प्रचलित कथा
एक राजा का पुत्र बहुत ही दुराचारी था। इस पर राजा ने दुखी होकर उसे घर से निकाल दिया। इस पर वह वन में रहते हुए लूटमार करने लगा और जानवरों को मार कर खाने लगा। एक दिन वह ऋषि के आश्रम में पहुंचा। आश्रम के पवित्र वातावरण से उसका ह्रदय भी पवित्र हो गया और वह पाप कर्मों से विरत हो गया। इसी के साथ ऋषि ने उसे अपने पापों से मुक्ति पाने के लिए मोहिनी एकादशी का व्रत करने की सलाह दी। इस पर राजा के बेटे ने इस व्रत को विधि पूर्वक किया। व्रत करने से उसकी बुद्धि निर्मल हो गई और उसके सारे पाप कर्म नष्ट हो गए।

अन्य खबरें भी पढ़ें-

UTTAR PRADESH:हुलिया बदलने के बावजूद भी नहीं बच सकेंगे अपराधी, अत्याधुनिक कैमरों से लैस होगा पूरा प्रदेश, जानें कितने कैमरे जाएंगे खरीदे, देखें किस तरह काम करेगा FACE RECOGNITION CAMERA

आईटीआई, पॉलिटेक्निक और बीटेक छात्रों को प्रशिक्षित करने के लिए जल्द ही AKTU में स्थापित की जाएगी आइडिया लैब, स्वीकृत हुआ अनुदान, जाने लैब की विशेषता

घरेलू गैस सिलेंडर के दाम बढ़ने के बाद लोगों ने शुरू किया अनूठा विरोध, देखें कैसे-कैसे वीडियो किए जा रहे हैं वायरल, जाने लखनऊ में कितना बढ़ा रेट

लखनऊ विश्वविद्यालय को मिली 6 नई प्रयोगशालाएं, मानक के अनुसार दवाओं का होगा परीक्षण एवं शुद्धता की जाँच, देखें फार्मा से जुड़े और कौन-कौन से हो सकेंगे प्रयोग

Leave a Comment

Your email address will not be published.