Anwarul Azim Anar Murder: बांग्लादेश के सांसद की भारत में हत्या, तीन लोग गिरफ्तार, जानें किससे गए थे मिलने?, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने कही ये बात, देखें Video

Share News

Anwarul Azim Anar Murder: बांग्लादेश के सांसद अनवारुल अजीम अनार की कोलकाता में लाश मिलने के बाद हड़कंप मच गया है. बताया जा रहा है कि वह इलाज के लिए भारत आए थे और अब उनकी लाश मिली है. वह 12 मई से ही लापता थे. पुलिस उनकी तलाश कर रही थी. वह बांग्लादेश की सत्तारूढ़ पार्टी अवामी लीग के सांसद थे. वह तीन बार के सांसद रहे.

इस मामले में सीआईडी ​​आईजी अखिलेश कुमार चतुर्वेदी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “यहां अनवारुल अज़ीम अनार दौरे पर आए थे, वे 13 मई से लापता थे, उनकी बेटी ने उनसे संपर्क न होने पर शिकायत दर्ज़ कराई। जांच शुरू करने के लिए एक SIT का गठन किया गया। इस बीच, पश्चिम बंगाल सरकार को इस मामले की जांच के लिए विदेश मंत्रालय से एक पत्र मिला। आज हमें सूचना मिली कि उनकी हत्या कर दी गई है। हम इस मामले की जांच कर रहे हैं।”

फिलहाल उनकी मौत को लेकर बांग्लादेश के गृहमंत्री असदुज्जमां खान ने पुष्टि की है और कहा है कि कोलकाता पुलिस ने अनवारुल की मौत की जानकारी दी है. पुलिस ने बताया कि उनका फोन 14 मई से बंद था. वह किसी से मिलने के लिए गए थे और एक फ्लैट में मृत पाए गए हैं. अजीम 12 मई को कोलकाता पहुंचे थे. तभी से उनके परिवार से उनका संपर्क नहीं हो पा रहा था. मीडिया सूत्रों के मुताबिक उत्तरी कोलकाता के बर्नानगर पुलिस स्टेशन की जनरल डायरी में 18 मई को बांग्लादेश के सांसद के लापता होने की सूचना लिखी गई है.

बांग्लादेश में तीन लोग गिरफ्तार
बांग्लादेश के गृह मंत्री असदुज्जमां खान ने ढाका में अपने आवास पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि “कोलकाता में सांसद अनवारुल अज़ीम अनार की हत्या कर दी गई है और बांग्लादेश में 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.”

12 मई की शाम को गए थे अपने मित्र से मिलने
पुलिस सूत्रों के मुताबिक बांग्लादेश के सांसद 12 मई की शाम करीब 7 बजे अपने एक फैमिली फ्रेंड गोपाल बिस्वास से मिलने के लिए कोलकाता में उनके घर गए थे. इसके बाद दूसरे दिन दोपहर 1.41 बजे उन्होंने डॉक्टर से मिलने की बात कही थी और इसी के बाद वह वहां से निकल गए थे और शाम को लौटने की बात कही थी और गोपाल को वॉट्सऐप मैसेज कर कहा था कि वह दिल्ली जा रहे हैं और कहा था कि वहां पहुंचने के बाद पर फोन करेंगे.

स्कूल के सामने से ली थी टैक्सी
इसके बाद 14 मई को बिस्वास को एक और मैसेज अनवारुल ने किया और बताया कि वह दिल्ली पहुंच गए हैं और यहां कुछ वीआईपी लोगों के साथ हैं, इस वजह से उन्हें कॉल करने की जरूरत नहीं है. यही मैसेज अपने पीए राउफ को भी भेजा लेकिन 17 मई को उनकी बेटी ने गोपाल बिस्वास को फोन किया और कहा कि वह अपने पिता से किसी तरह से कॉन्टैक्ट नहीं कर पा रही हैं. पुलिस सूत्रों ने बताया कि उन्होने बिधान पार्क में कलकत्ता पब्लिक स्कूल के सामने से उन्होंने टैक्सी ली थी. (फोटो-सोशल मीडिया)