DELHI:ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका खारिज, भेजा गया 14 दिन की न्यायिक हिरासत में, पुलिस ने तीन नई धाराएं जोड़ी, विदेश से चंदा इकठ्ठा करने का आरोप, देखें अभी तक कौन-कौन सी लगी धाराएं, वीडियो

Share News

धार्मिक भावनाओं को आहत करने और दुश्मनी फैलाने के आरोप में गिरफ्तार ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर पर दर्ज FIR में दिल्ली पुलिस ने तीन और धाराएं जोड़ दी हैं। नई धारा के तहत उन पर विदेश से चंदा जुटाने का आरोप भी लगाया गया है। इसी के साथ पुलिस ने जांच में यह भी पाया है कि जुबैर ने साक्ष्य मिटाने का भी काम किया है। इस तरह से जुबैर पर आईपीसी की धारा 120 B (अपराधिक साजिश), 201 (सबूत नष्ट करना) के साथ ही 35 एफसीआरए धाराएं जोड़ी गई हैं। बता दें कि आज पटियाला हाउस कोर्ट में भी जुबैर को पेश किया गया था, जहां उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी गई है और उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

एएनआई न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर की ज़मानत याचिका खारिज की। कोर्ट ने मोहम्मद जुबैर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा।

एएनआई न्यूज एजेंसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक सुबह ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर को द्वारका में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO यूनिट से बाहर लाया गया था और उन्हें पटियाला हाउस कोर्ट में पेश करने के लिए ले जाया गया था। जुबैर को 27 जून को एक सोशल मीडिया पोस्ट से धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था।

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने जुबैर को 27 जून को गिरफ्तार किया था। तब जुबैर पर 153A के तहत (धर्म, भाषा आदि के आधार पर नफरत व दुश्मनी फैलाना) और 295A (नागरिकों के किसी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को आहत करना) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। जांच में पुलिस ने पाया कि जुबैर ने 2018 में एक ट्वीट किया था, जिससे लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई थीं। 27 जून को ही कोर्ट ने जुबैर को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद चार दिन की हिरासत और बढ़ा दी गई थी, जो कि शनिवार को खत्म हो गई थी। इसी के चलते आज फिर से पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया था, जहां उनकी न्यायिक हिरासत बढ़ा दी गई है।