MANGO:उज्जैन के बाबा महाकाल खाते हैं ढाई लाख रुपए किलो का आम, देखें दुनिया के सबसे महंगे आम की खेती कहां हो रही है भारत में, दर्जन भर से अधिक कुत्ते करते हैं बाग की रखवाली

Share News

जबलपुर। आपने भांति-भांति और किस्म-किस्म के आम के नाम तो जरूर सुने होंगे और इसकी कीमत भी जानी होगी, लेकिन क्या आप ने किसी आम की कीमत लाखों में सुनी है किया। अगर नहीं तो अब जान लीजिए। यह जानकर आपको आश्चर्य होगा कि जो आम भारत में पैदा हो रहा है, उसकी जापान में कीमत ढाई लाख रुपए किलो है।

वैसे भी आम का सीजन चल रहा है तो भारत के आम न केवल अपने देश बल्कि विदेशों में भी धूम मचा रहे हैं। इसी तरह मध्यप्रदेश के जबलपुर के एक आम प्रेमी हैं जो कि ऐसी प्रजाति का आम उगा रहे हैं, जिसकी एक किलो की कीमत जापान में ढाई लाख रुपए है।

12 एकड़ में है बाग

मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जबलपुर के संकल्प सिंह के करीब साढ़े 12 एकड़ में दो बाग हैं, जिसमें वह आम की खेती करते हैं। इन दोनों बागों में उन्होंने कई किस्म के आम लगा रखे हैं। उनके बाग में हापुस के आम से लेकर जापान की ताईयो नो तामागो (Taiyo-no-Tamago) नाम की प्रजाति भी है, इसे टोइयो नो टमैंगो भी कहते हैं। इसकी विशेषता ये है कि यह आम जापान में खासा पसंद किया जाता है और ढाई लाख की कीमत देकर लोग इसे एक किलो खरीदते हैं।

उज्जैन महाकाल बाबा

लेकिन भारत में अभी इतनी कीमत नहीं मिली है। सिंह कहते हैं कि यह आम वही खरीदता है, जिसके पास अधिक पैसा हो। फिर भी ढाई लाख तो नहीं हां, 50 हजार किलो तक भारत में इसकी कीमत मिल चुकी है।

12 कुत्ते करते हैं बाग की रखवाली

संकल्प सिंह बताते हैं कि इस आम ने उनको खास पहचान दी है। इसी के साथ वह यह भी बताते हैं कि महंगा होने के कारण इसकी सुरक्षा करना भी बेहद कठिन है। इसलिए उन्होंने आम के बाग की सुरक्षा के लिए कुत्ते पाल रखे है और 12 कुत्ते बाग की रखवाली करते हैं। सुरक्षा गार्ड भी बाग की रखवाली करते हैं, लेकिन फिर भी आम के चोरी होने का खतरा बना ही रहता है। क्योंकि जो भी यहां पर्यटक घूमने आते हैं वह बाग देखने जरूर आते हैं। ऐसे में भीड़ के कारण सुरक्षा बड़ी मुश्किल हो जाती है।

आम की 24 किस्में हैं उगाते

सिंह ने 2013 में बागवानी की शुरूआत की थी। फिर धीरे-धीरे उनको आम की विभिन्न किस्मों की पैदावार करने में दिलचस्पी हो गई और इस तरह से वह एक के बाद एक कई प्रयोग करते चले गए। वर्तमान में उनके बाग में 24 से अधिक किस्मों के आम पेड़ पर लगे हुए मिल जाएंगे। जापान की प्रजाति वाला आम टोइयो न टमैंगो प्रजाति को लेकर उन्होंने बताया कि यह प्रजाति एक व्यक्ति से यात्रा के दौरान मिली थी। वह कहते हैं यह आम की सबसे महंगी प्रजाति है और दिखने में भी आकर्षक लगता है।

पहला आम बाबा महाकाल को है चढ़ता

वह कहते हैं इसका पहला फल वह बाबा महाकाल के दरबार में चढ़ाते हैं। इसके बाद ही इसे जापान भेजा जाता है। वह बताते हैं कि एक आम का वजह 900 ग्राम होता है, इसीलिए लोग इसे देखने के लिए उनके बाग में आते है।

जापान में सिर्फ स्पेशल आर्डर पर की जाती है इसकी खेती

अगर गूगल की मानें तो “ताईयो नो तामागो” ( टोइयो नो टमैंगो) आम की किस्म सिर्फ जापान के मियाजाकी प्रांत में पाई जाती है। इसके दो आमों की जोड़ी ढाई लाख रुपए तक में बिकती है। इनकी खेती सिर्फ स्पेशल ऑर्डर मिलने पर ही की जाती है। अर्थात इस आम को बड़ी आसानी से नहीं खरीद सकते। यह आधा लाल और आधा पीला होता है। (फोटो इंटरनेट मीडिया से ली गई है)